अग्निपथ बवाल पर बोले ओवैसी- ‘ कम से कम फौज पर तो रहम करिए ‘

0
39

द लीडर | अग्निपथ योजना के विरोध पर उठते सवालों के बीच हैदराबाद के सांसद और एआईएमआईएम के चीफ असदुद्दीन ओवैसी ने इस हिंसा के लिए सीधे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को जिम्मेदार ठहरा दिया है. गौरतलब है कि अग्निपथ योजना की सबसे गंदी तस्वीर हैदराबाद से सटे सिकंदराबाद में ही देखने को मिली है, जहां रेलवे स्टेशन पर एक शख्स की जान भी चली गई है. ओवैसी ने हिंसा पर उतारू लोगों के लिए कहा है कि सड़क पर उनका जो गुस्सा उतर रहा है, वहा हालात का स्वाभाविक परिणाम है.

‘घमंड और अहंकार ये कि पीएम मोदी….’

हैदराबाद के सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने कहा है कि उस समय भी सड़क पर जो गुस्सा था, उसके तीन मुख्य फैक्टर थे- आर्थिक तंगी, बहुत ज्यादा बेरोजगारी और अत्यधिक महंगाई। अब उन्होंने कहा है कि ‘इस अग्नि को जो चौथा फैक्टर हवा दे रहा है वह घमंड और अहंकार है, जिससे प्रधानमंत्री सेना प्रमुखों के पीछे छिप रहे हैं.’

एक साल उम्र में भी दी गई रियायत

गौरतलब है कि अग्निपथ योजना मंगलवार को लॉन्च की गई है, जिसके तहत 17.5 साल से 21 साल के बीच के युवाओं को तीनों सेनाओं में भर्ती की जाएगी. लेकिन, इसके खिलाफ जोरदार हिंसक प्रदर्शन हो रहा है. गुरुवार को शाम में जाकर सरकार ने सिर्फ एक बार के लिए 21 साल की उम्र को बढ़ाकर 23 भी किया है, जिसके पीछे तर्क ये दिया गया है कि दो साल से सेना में भर्ती नहीं पाई है.

सेना प्रमुखों के सामने आने पर भड़के ओवैसी

ओवैसी ने इस वजह से सरकार को निशाना बनाया है कि अग्निपथ योजना के बचाव के लिए सेना प्रमुखों को सामने आना पड़ रहा है. सेना प्रमुख जनरल मनोज पांडे ने शुक्रवार को कहा कि उम्र में छूट से कई योवाओं, ऊर्जावान और देशभक्त युवकों को विशेष मौका मिलेगा, जिन्हें महामारी की वजह से दो साल सेना में भर्ती का मौका नहीं मिला था. सेना प्रमुख ने कहा है, ‘मुझे लगता है कि युवाओं को अग्निपथ योजना के बारे में पुख्ता जानकारी नहीं है. एक बार जब वो इसके बारे में जान जाएंगे, उन्हें यह विश्वास हो जाएगा कि यह योजना सिर्फ युवाओं के लिए नहीं है, बल्कि यह सभी के लिए फायदेमंद है.’

लगातार निशाना साधते हैं असदुद्दीन ओवैसी

आपको बता दें कि इससे पहले भी असदुद्दीन ओवैसी ने एक ट्वीट कर सरकार पर निशाना साधा था. ट्वीट में उन्होंने अमिताभ बच्चन के पिता हरिवंशराय बच्चन की कविता की कुछ पंक्तियों को अग्निपथ स्किम से जोड़कर हमला बोला था. यह पंक्तियां हरिवंश राय बच्चन की लिखी हुई कविता अग्निपथ की हैं.

तू न थकेगा कभी
तू न रुकेगा कभी
तू न मुड़ेगा कभी
कर शपथ कर शपथ कर शपथ
#अग्निपथ अग्निपथ अग्निपथ -हरिवंशराय बच्चन

इसी ट्वीट में एक वीडियों भी शेयर किया था जिसमें पुलिस प्रदर्शनकारियों को तितर-बितर करते हुए नजर आ रही है. कविता की कुछ पंक्तियों के बाद उन्होंने लिखा था कि @narendramodi इन्हें कपड़ों से ना पहचानिए, ना ही गोली और बुलडोज़र चलाइए. अपना गलत फैसला वापस लीजिए, देश की 66% आबादी युवाओं की है. बात को समझिए.

आरजेडी का हमला

इधर, बिहार की मुख्य विपक्षी पार्टी राष्ट्रीय जनता दल ने भी अग्निपथ स्कीम को लेकर केन्द्र सरकार पर बड़ा हमला बोला है. आरजेडी ने कहा- अभी अग्निवीर की भर्ती शुरू भी नहीं हुई कि खुशी में अग्निवीरों ने नवादा,बिहार के भाजपा कार्यालय में “अग्नि” लगा दी. खेदजनक! अग्निवीरों में इतनी आग है इसका अंदाजा तो “अग्निपथ” योजना के निर्माताओं को भी नहीं रहा होगा.

अग्निपथ योजना का देश के कई राज्यों में विरोध

रक्षा मंत्रालय की तरफ से शुरू की जा रही अग्निपथ योजना का गुरुवार को देश के कई राज्यों में विरोध हुआ. जिसके तहत योजना के विरोध में बिहार, एमपी, यूपी, उत्तराखंड, राजस्थान और हरियाणा के युवाओं योजना का विरोध जताते हुए सड़कों पर उतर आए. बिहार में युवाओं ने योजनाओं का विरोध करते हुए आगजनी की और कई ट्रेन की बोगियों मे आग लगा दी है. इस वजह से कई ट्रेनों के परिचालन का समय में बदलाव करना पड़ा. वहीं देश के अन्य राज्यों से भी प्र्दशन के हिंसक होने की खबरें गुरुवार को आई.