महाराष्ट्र के बागी मंत्री एकनाथ शिंदे अपने सभी विधायकों के साथ बना सकते हैं नई पार्टी

0
37

द लीडर | महाराष्ट्र में सियासी बवाल के बीच अब शिवसेना के बागी नेता एकनाथ शिंदे अपनी नई पार्टी बनाने की कोशिशों में जुट गए हैं। बताया गया है कि शिंदे शिवसेना बालासाहब ठाकरे के नाम से अपनी नई पार्टी बनाने की कोशिश कर रहे हैं। सभी बागी विधायकों के साथ मिलकर ये तैयारी चल रही है। शिंदे पहले ही दावा कर चुके हैं कि उनके पास 50 से ज्यादा विधायकों का समर्थन है, जिनमें करीब 38 विधायक शिवसेना से हैं।

महाराष्ट्र विधानसभा के डिप्टी स्पीकर का एहम रोल

महाराष्ट्र विधानसभा के डिप्टी स्पीकर पर रही। डिप्टी स्पीकर ने आज दो बड़े कदम उठाए। पहला- उनके खिलाफ शिंदे गुट द्वारा लाए गए अविश्वास प्रस्ताव को खारिज कर दिया और दूसरा – बागी गुट के 16 विधायकों को नोटिस कर दिया गया है। उनके पास जवाब देने के लिए सोमवार शाम 5 बजे तक का मौका है। इस बीच, मुंबई से लेकर दिल्ली और गुवाहाटी तक बैठकों का दौर जारी है। उद्धव ठाकरे हर तरह का कार्ड खेल रहे हैं, वहीं संजय राउत की बयानबाजी भी जारी है। राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (NCP) और कांग्रेस भी Wait n watch की पॉलिसी अपनाए हुए हैं।

शिवसेना कार्यकर्ताओं का फूटा गुस्सा

महाराष्ट्र में चल रहे राजनैतिक संकट के बीच शिवसेना कार्यकर्ताओं ने पार्टी के बागी विधायकों के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया है। शिवसेना कार्यकर्ताओं ने खारघर में पार्टी कार्यालय के बाहर पुतला फूंका और जमकर नारबाजी की है।


यह भी पढ़े –UP : संगमनगरी के इस मठ में 170 साल से जल रही अखंड ज्योति, आज भी जगाए हुए है आजादी की अलख


बागियों के खिलाफ एक्शन की तैयारी

बता दें कि एकनाथ शिंदे की बगावत के बाद शिवसेना ने उन्हें मनाने की कोशिश की, लेकिन बात नहीं बनी। जिसके बाद अब शिवसेना की कोशिश पार्टी बचाने पर शिफ्ट हो चुकी है। क्योंकि फ्लोर टेस्ट होते ही सरकार गिरने की पूरी संभावना नजर आ रही है। वहीं पार्टी बचाने के लिए अब शिवसेना बागियों के खिलाफ कार्रवाई की बात कर रही है। इसके लिए डिप्टी स्पीकर से शिकायत की जा रही है और बागी विधायकों को नोटिस भेजने की तैयारी है। सीएम उद्धव ठाकरे पहले ही बागी विधायकों को अपनी तरफ से अल्टीमेटम दे चुके हैं। जिसमें उन्होंने 24 घंटे के भीतर वापसी की बात कही थी।

बागी विधायकों की सुरक्षा पर वार-पलटवार

बागी नेता एकनाथ शिंदे ने दावा किया है कि महाराष्ट्र सरकार ने राजनीतिक प्रतिशोध के कारण शिवसेना के 16 बागी विधायकों की सुरक्षा हटाई है। वहीं राज्य के गृह मंत्री ने इस कदम से इनकार किया है। जानकारी के अनुसार शिवसेना के असंतुष्ट नेता एकनाथ शिंदे ने आरोप लगाया कि महाराष्ट्र सरकार ने खुद समेत 16 बागी विधायकों के आवासों की सुरक्षा वापस ले ली है। उन्होंने इस कार्रवाई को राजनीतिक प्रतिशोध करार दिया। वहीं गृह मंत्री दिलीप वालसे पाटिल ने इस तरह के किसी भी कदम से इनकार किया है।

नए नाम का ऐलान करेंगे एकनाथ शिंदे

शिवसेना आज दो गुट में बंट सकती है। एकनाथ शिंदे ने अपने गुट का नाम तय कर लिया है, जिसका औपचारिक ऐलान आज किया जाएगा। शिंदे गुट ने अपने नाम ‘बाला साहेब ठाकरे: शिवसेना’ रखा है। आज उद्धव ठाकरे की बैठक के बाद इसकी घोषणा की जा सकती है। शिंदे गुट का कहना है कि उनके साथ 40 विधायक हैं। अपने गुट के साथ बाला साहेब ठाकरे का नाम जोड़कर शिंदे इमोशनल कोर्ड खेलना चाहेंगे।

कुछ देर बाद शिवसेना की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक 

राजनीतिक असहजता में अकेले पड़े उध्दव ठाकरे शिवसेना की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक को सबोंधित करेंगे। जिसमें बागियों को स्पष्ट सदेंश देने की कोशिश करेंगे। ताकि शिवसेना में अपना सियासी रूतबा कायम रख सकें। क्योंकि राजनीतिक हल्कों से मिली जानकारी के अनुसार बताया जा रहा हैं कि भारी संख्या में शिवसेना सांसद भी बागी रूख अख्तियार कर सकते हैं। जिससे पार्टी की आवाज संसद पटल में कुंंद हो जाएगी।

(आप हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)