बढ़ते कोरोना मामलों ने बढ़ाई सरकार की चिंता

0
124

दिल्ली | देश में बढ़ते कोरोना के मामले अब बेकाबू होते दिख रहे है। एक बार फिर मरीज़ों की संख्या में तेज़ी से उछाल देखने को मिल रहा है जिसने सरकार की परेशानियों को और बढ़ा दिया है। भारत के कई राज्यों में लॉकडाउन भी लगा दिया गया है और कई जगहों पर नाईट कर्फ्यू का ऐलान किया जा चुका है।

देश में तीन महीने बाद 28 हजार से ज्यादा कोरोना केस दर्ज किए गए हैं, जो कि इस साल एक दिन में सबसे ज्यादा संख्या भी है। स्वास्थ्य मंत्रालय की ताजा रिपोर्ट के अनुसार, पिछले 24 घंटों में 28,903 हजार नए कोरोना केस आए और 188 लोगों की जान चली गई है। हालांकि 17,741 लोग कोरोना से ठीक भी हुए हैं। इससे पहले 12 दिसंबर 2020 को 30,254 कोरोना केस दर्ज किए गए थे।

यह भी पढ़े – इस बार 10 मई से शुरू हो जाएगी हेमकुंड साहिब यात्रा

ताजा आंकड़ों के अनुसार, अब देश में कोरोना के कुल मामले बढ़कर एक करोड़ 14 लाख 38 हजार 734 हो गए हैं. कुल एक लाख 59 हजार 44 लोगों की जान जा चुकी है. एक करोड़ 10 लाख 45 हजार 284 लोग कोरोना को मात देकर ठीक भी हो चुके हैं. देश में अब एक्टिव केस की संख्या बढ़कर 2 लाख 34 हजार 406 हो गई है यानी कि इतने लोग अभी कोरोना संक्रमित हैं.

प्रधानमंत्री आज करेंगे मुख्यमंत्रियों संग बैठक

नमंत्री नरेंद्र मोदी आज यानी बुधवार को कुछ राज्यों में बढ़ते कोविड के मामलों और केंद्र की वैक्सीनेशन को तेज करने की कोशिशों को लेकर मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक करने वाले हैं.पीएम मोदी ने ऐसी आखिरी मीटिंग में वैक्सीनेशन प्रोग्राम को लेकर बातचीत की थी. उस वक्त वैक्सीनेशन का पहला चरण शुरू हो रहा था, जब लगभग तीन करोड़ हेल्थकेयर और फ्रंटलाइन वर्कर्स को टीका लगना था.

यह भी पढ़े – मंडी से BJP सांसद की संदिग्ध मौत, फंदे से लटकी मिली लाश

थोड़ी राहत सिर्फ इस बात से महसूस की जा सकती है कि देश में इसकी रिकवरी रेट 96.56 फीसदी है. पिछले 24 घंटों में जहां 17 हजार 741 मरीज ठीक हुए हैं तो वहीं अब तक कुल ठीक होने वालों की संख्या 11,045,284 हो गई है. वहीं मृत्यु दर दो फीसदी के नीचे जारी है. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा जारी आंकड़ों के अनुसार बुधवार को मृत्यदुर 1.39 फीसदी दर्ज की गई.

यह भी पढ़े – क्या यह अस्मिताओं के संघर्ष का समय है?

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here