पहले चरण में कोविड-19 वैक्सीन का 400 से ज्यादा मरीज़ों पर साइड इफेक्ट

0
346
Kovid vaccine side effects

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की प्रेस कांफ्रेंस में कोरोना वायरस के टीकाकरण के बाद 16 और 17 जनवरी को 447 एइएफ़आई (एडवर्स इवेंट फॉलोइंग इम्युनाइजेशन) की जानकारी दी गयी है. यानि देश के विभिन्न इलाकों से अब तक कोरोना के टीके का 447 लोगों में प्रतिकूल असर दिखाई दिया है. (Kovid vaccine side effects)

स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार ज्यादातर मामलों में इसका साइड इफेक्ट मामूली प्रभाव वाला ही दिखाई दिया लेकिन 3 मामलों में प्रभावितों को अस्पताल में भर्ती कराये जाने की नौबत भी  आ चुकी है. नॉर्दन रेलवे के अस्पताल में भर्ती व्यक्ति को 24 घंटे के भीतर अस्पताल से छुट्टी दे दी गयी. एम्स दिल्ली में भी साइड इफेक्ट के बाद भर्ती एक व्यक्ति को डिस्चार्ज कर दिया गया. जबकि एम्स ऋषिकेश में भर्ती एक अन्य व्यक्ति को जल्द ही अस्पताल से डिस्चार्ज किये जाने की संभावना है.

वैक्सीन के साइड इफेक्ट के ज़्यादातर मामलों में व्यक्ति को मामूली बुखार, सिरदर्द और जी मिचलाने की शिकायत दिखाई दे रही है.

कोरोना वायरस वैक्सीन लगाये जाने के वर्तमान पहले चरण में इसे 30 करोड़ भारतीयों को लगाये जाने का अनुमान है. हर व्यक्ति के लिए वैक्सीन की दो डोज़ निर्धारित हैं. पहली डोज़ लगाये जाने के लगभग 4 हफ्ते बाद दूसरी डोज दी जानी है. एक्सपर्ट्स के मुताबिक वैक्सीन का असर पहला डोज़ लगने के 10 से 15  दिन के बाद ही दिखाई देना शुरू हो जाता है. हालांकि विशेषज्ञ यह भी कह रहे हैं कि वैक्सीन लगवाने के बाद भी सुरक्षा के उपाय पहले की ही तरह किये जाने जरूरी हैं. इसके बाद भी मास्क लगाना, हाथ धोना और वस्तुओं को सैनिटाइज करना आवश्यक है. वायरस से बचने के लिए पहले की तरह ही शारीरिक दूरी बनाये रखना भी जरूरी है. अतः जिन्हें भी वैक्सीन दी गयी है उनके लिए भी पूर्व की भांति सुरक्षा के उपाय बरतना बेहद जरूरी है.

इसे भी पढ़ें : आपको कोरोना वैक्सीन लगवाना चाहिए या नहीं, जानिए हर सवाल का जवाब

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here