कश्मीरी पंडितों के साथ हो रही हिंसा के लिए कश्मीरी फाइल्स ज़िम्मेदार – महबूबा मुफ़्ती

0
184

द लीडर | जम्मू-कश्मीर में शांति के माहौल के बाद एक बार फिर से हिंसा और तनाव का माहौल है.आतंकियों ने इस बार टारगेट किलिंग कर कश्मीरी पंडितों को निशाना बनाया है। इस मामले पर पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) की अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती का बेतुका बयान सामने आया है। उन्होंने कहा कि घाटी में हिंसा के लिए विवेक अग्निहोत्री की फिल्म द कश्मीर फाइल्स जिम्मेदार है। जब वो राज्य की मुख्यमंत्री थीं तो उन्होंने कश्मीरी पंडितों के लिए सुरक्षित माहौल बनाकर दिया था। साल 2016 में एक भी कश्मीरी पंडित की हत्या नहीं हुई थी। ये सिर्फ कश्मीर फाइल्स फिल्म की वजह से हिंसा हो रही है।

हमने माहौल बेहतर बनाया था

श्रीनगर में एक कार्यक्रम में महबूबा ने सीधे तौर पर केंद्र सरकार पर जम्मू कश्मीर के हालात बिगाडऩे का आरोप लगाते हुए कहा कि जम्मू कश्मीर में नेशनल कांफ्रेंस, पीडीपी व कांग्रेस ने सुरक्षाबलों के साथ मिलकर माहौल बेहतर बनाया था। यही कारण है कि 2008, 2010 और 2016 के हिंसक प्रदर्शनों के दौरान कश्मीर में एक भी कश्मीरी हिंदू को किसी ने चोट नहीं पहुंचाई।

उन्होंने कहा कि फिल्म ने माहौल बहुत ज्यादा बिगाड़ा है, यह एक बेबुनियाद फिल्म है।’ उन्होंने कहा कि मैंने उपराज्यपाल से पूछा है कि क्या यह सच हो सकता है कि एक मुस्लिम किसी हिंदू को कत्ल करे और फिर उसके खून से सने चावल उसकी बीबी को खिलाए?


यह भी पढ़े –Shahi Idgah Masjid: मथुरा की शाही ईदगाह को सील करने की मांग, कोर्ट में 1 जुलाई को होगी सुनवाई


लोगों के दिमाग में जहर भरा जा रहा

श्रीनगर में पत्रकारों से बातचीत में महबूबा ने कहा कि बीते चार-पांच साल से केंद्र सरकार ने कश्मीर में डर और नफरत का माहौल पैदा करना शुरू कर दिया है। कश्मीर फाइल्स फिल्म के बाद पूरे देश में मुस्लिमों के खिलाफ माहौल तैयार किया जा रहा है। कश्मीरी मुस्लिमों को लेकर लोगों के दिमाग में जहर भरा जा रहा है। उन्होंने कहा कि हमने उपराज्यपाल से कश्मीरी हिंदुओं की सुरक्षा पर बात की है। यहां गिरफ्तारियां और सरकारी मुलाजिमों की बर्खास्तगी से यहां हालात सुधरेंगे नहीं बल्कि और बिगड़ेंगे।

ज्ञानवापी मामले पर भाजपा पर तंज

ज्ञानवापी परिसर पर महबूबा ने कहा कि भाजपा को एकसाथ उन सभी मस्जिदों की सूची देनी चाहिए, जो उसे चाहिए। वह जगह-जगह मस्जिदों को गिराने की बात कर रहे हैं, इससे सिर्फ नफरत ही फैलेगी। महबूबा ने कहा कि भाजपा व उस जैसे अन्य दल मुगलों की विरासत को तबाह करने पर तुले हैं। केंद्र सरकार रोजगार, महंगाई और विकास के मुद्दे पर पूरी तरह नाकाम रही है, इसलिए वह लोगों का ध्यान बुनियादी मुद्दों से हटाने के लिए पूरे देश में नफरत का माहौल पैदा कर रही है।

मस्जिदों के पीछे पड़ी है बीजेपी

महबूबा मुफ्ती ने वाराणसी की ज्ञानवापी मस्जिद पर अपनी राय व्यक्त करते हुए कहा कि वो हमारी मस्जिदों के पीछे पड़े हुए हैं। बीजेपी असल मुद्दों से ध्यान भटकाने के लिए हिंदू-मुस्लिम जैसे मुद्दे पैदा कर रहे हैं। इसी क्रम में वो अब ज्ञानवापी मस्जिद के पीछे पड़े हैं। केंद्र सरकार उन सभी मस्जिदों की सूची हमें दे दे जिस पर उसकी नजर है।

(आप हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)