कोरोना: फ्रांस में एक माह का लॉक डाउन, ब्राज़ील में सर्वाधिक मौतें

0
137

नई दिल्ली

कोरोना एक बार फिर खतरनाक रूप में सामने है। दुनिया में पिछले 24 घंटे में 6 लाख 38 हजार 150 संक्रमित मिले। भारत में कल का एक दिन का आंकड़ा 72000 से ज्यादा का है। इस तरह अब तक दुनिया में 12.94 करोड़ लोग संक्रमण की चपेट में आ चुके हैं। इनमें 28.27 लाख मरीजों की मौत हो गई। 2.22 करोड़ का इलाज चल रहा है।

ब्राज़ील : एक दिन में 3950 मरे

ब्राज़ीलिया से मिली खबर के मुताबिक 22 करोड़ की आबादी वाले ब्राजील में हालात दिन-पर-दिन बुरे होते जा रहे हैं। यहां बुधवार को 89,200 लोगों में कोरोना की कोरोना की पुष्टि हुई। इस दौरान रिकॉर्ड 3950 लोगों की मौत हुई। यह एक दिन में मरने वालों का सबसे बड़ा आंकड़ा है। इससे पहले एक दिन पहले ही 30 मार्च को 3668 लोगों की मौत हुई थी। यहां अब तक 1.27 करोड़ लोग कोरोना की चपेट में आ चुके हैं और 3.21 लाख लोगों की मौत हो चुकी है।

कोवैक्सीन पर सवाल

ब्राजील की हेल्थ रेगुलेटर (स्वास्थ्य नियामक) एनविसा ने भारत में बने कोरोना संक्रमण के टीके कोवैक्सिन के मैन्यूफैक्चरिंग स्टैंडर्ड पर सवाल खड़ा किया है। एनविसा का कहना है कि भारत बायोटेक की वैक्सीन उसके मानकों को पूरा नहीं करती इसलिए इसका उपयोग संभव नहीं है।
कोरोना वैक्सीन बना रहीं फार्मा कंपनियों फाइजर-बायोएनटेक ने दावा किया है कि उनकी वैक्सीन 12 से 15 साल के बच्चों पर 100% इफेक्टिव है। CNN के मुताबिक, कंपनी ने बुधवार को एक बयान में कहा है कि अमेरिका में 2,250 बच्चों पर किए गए फेज थ्री ट्रायल्स में यह 100% असरदार रही।

फ्रांस में एक महीने का लॉकडाउन:

फ्रांस के राष्ट्रपति ने बताया कि लॉकडाउन 2 अप्रैल से प्रभावी होगा और यह अगले 4 सप्ताह तक जारी रहेगा। टीवी संदेश में उन्होंने कहा कि इस दौरान केवल जरूरी सामान की दुकानों को खुलने की इजाजत होगी और लोगों को दफ्तरों की बजाय घर से काम करना होगा। इस दौरान सार्वजनिक सभाओं पर पूरी तरह रोक होगी। बिना उचित कारण के अपने घरों से 10 किलोमीटर से अधिक दूर जाने पर भी रोक होगी।

स्कूल बंद, यात्रा पर भी बैन

फ्रांस ने देश में एक महीने के लॉकडाउन का ऐलान किया है। फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों ने बताया कि कोरोना के बढ़ते खतरे के मद्देनजर अगले 3 हफ्तों तक स्कूल बंद रहेंगे। ईस्टर के बाद अगले एक महीने तक देश के अंदर भी यात्रा करने पर पूरी तरह से प्रतिबंध रहेगा। उन्होंने कहा कि हमें महामारी की तीसरी लहर से बचने के लिए लॉकडाउन लगाना ही होगा, नहीं तो यह अस्पतालों पर भारी पड़ सकती है। अगर अभी हमने अभी ठोस कदम नहीं उठाया, तो हम कोरोना पर नियंत्रण खो देंगे।

46.46 लाख संक्रमित

जॉन्स हॉपकिंस यूनिवर्सिटी के डैशबोर्ड के मुताबिक, फ्रांस में कुल संक्रमितों का आंकड़ा 46.46 लाख पहुंच चुका है, जबकि यहां कोराेना से अब तक 95,502 लोगों की मौत हो चुकी है। वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन के मुताबिक, बीते दिन यहां एक दिन में संक्रमण के 29,575 मामले दर्ज किए गए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here