कुम्भ का जोश कोरोना का डर, ताज होटल के 57 कर्मचारी पॉजिटिव

0
266

हिमालय द्वार पर कोरोना का डेरा

द लीडर देहरादून।
ये कुछ तबलीगी जमात जैसा हाल हो रहा है। हो हल्ला भले न हो लेकिन कुम्भ नगरी हरिद्वार और ऋषिकेश कोरोना का हब बनता दिख रहा है। ऋषिकेश से कुछ आगे बने ताज होटल के 57 कर्मचारी शनिवार तक कोरोना पॉजिटिव निकल चुके हैं। यहां रुके 140 यात्रियों में से ज्यादातर बिना जांच कराए चले गए हैं। अभी कुछ दिन पहले बस से आये 23 गुजराती यात्री पॉजिटिव पाए गए थे।
जनपद टिहरी के नरेंद्र नगर प्रखंड में ऋषिकेश बद्रीनाथ हाईवे पर स्थित होटल ताज में कोरोना वायरस संक्रमण के मामले बढ़ते ही जा रहे हैं। यहां 25 मार्च को जांच के लिए भेजे गए 50 आरटी पीसीआर में 22 की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। शनिवार को स्वास्थ्य विभाग की टीम ने मौके पर तीन कर्मचारियों की एंटीजन जांच की। इनकी भी रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। यहां संक्रमित कर्मचारियों की संख्या शनिवार तक 57 हो गई थी। इनमें से कुछ अपने घर चले गए। प्रभारी चिकित्सा अधिकारी डॉ. जगदीश चंद्र जोशी ने बताया कि इस संबंध में उप जिलाधिकारी नरेंद्र नगर को विस्तृत रिपोर्ट बनाकर भेजी जा रही है। होटल में ठहरे पर्यटकों में से शनिवार को सिर्फ छह व्यक्तियों ने आरटी पीसीआर सैंपल जांच के लिए दिया। बाक़ी मना कर रहे हैं। कई यात्री चले भी गए हैं। कल ही शहर के एक मुहल्ले में एक परिवार के 7 लोग पॉजिटिव निकले थे।
शनिवार प्रदेश में 257 नए संक्रमित मिले। आज जया मैक्सवेल बहादराबाद (हरिद्वार) अस्पताल में एक 67 वर्षीय पुरुष की कोरोना से जान चली गई। उत्तराखंड में अब कोरोना संक्रमितों की कुल संख्या 99515 हो गई है। हरिद्वार और देहरादून में सबसे ज्यादा नए मामले हैं।

ताज होटल में कोरोना का डेरा

इस बीच हरिद्वार में कुम्भ के मद्देनजर सात दिनों तक स्कूल, उद्योग और सरकारी दफ्तर बंद करने का फैसला ले लिया गया है। बैंकों को लेकर भी वार्ता की जा रही है। आवश्यक वस्तुएं बनाने वाले उद्योग को ही इसमें छूट दी जाएगी। एक दो दिन में ये आदेश जारी हो जाएगा।
कुंभ 2021 के सबसे महत्वपूर्व 12 और 14 अप्रैल को होने वाले शाही स्नान में करोड़ों की संख्या में श्रद्धालुओं के पहुंचने का अनुमान लगाया जा रहा है। इसी को ध्यान में रखते हुए व्यवस्थाएं की जा रही हैं। 9 अप्रैल से भीड़ जुटनी हरिद्वार में शुरू हो जाएगी। जो 14 अप्रैल के शाही स्नान के बाद ही कम होगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here