Thursday, June 17, 2021
Home कोरोना AMU में कोरोना विस्फोट: 20 दिनों के भीतर 44 लोगों की हुई...

AMU में कोरोना विस्फोट: 20 दिनों के भीतर 44 लोगों की हुई मौत

अलीगढ़ | अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में केवल 20 दिनों के भीतर 44 व्यक्तियों की कोरोना से मौत हो चुकी है. इनमें 26 प्रोफेसर्स भी शामिल हैं. कोरोना के कारण मरने वाले इन प्रोफेसर्स में 16 वर्किंग और 10 रिटायर्ड फैकल्टी हैं. विश्वविद्यालय ने संदेह जताया है कि अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में कोरोना का कोई नया वैरिएंट हो सकता है. विश्वविद्यालय के कुलपति ने यहां से लिए गए सैंपल की जांच के लिए आईसीएमआर से आग्रह किया है.

एएमयू के कुलपति तारिक मंसूर के भाई की भी कोरोना से मौत हो चुकी है. कुलपति तारिक मंसूर ने विश्वविद्यालय में कोरोना के नए वैरिएंट की आशंका जताई है. कुलपति की मांग पर विश्वविद्यालय से कोरोना के सैंपल एकत्र किए गए हैं. एकत्र किए गए इन सैंपल को को जांच के लिए दिल्ली में सीएसआईआर इंस्टीट्यूट ऑफ जिनॉमिक्स एंड इंटीग्रेटिव बायॉलजी भेजा गया है.

यह भी पढ़े – #CoronaVirus: नोएडा के गांवों में कोरोना का कोहराम, अब तक 70 लोगों की मौत

वाइस चांसलर तारिक मंसूर ने ICMR को नमूनों की जांच के लिए एक पत्र भेजा है. आईसीएमआर की ओर से इस पर फिलहाल कोई प्रतिक्रिया सामने नहीं आई है. गौरतलब है कि अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी परिसर से विश्वविद्यालय की ही आईसीएमआर प्रमाणित लैब ने यह सैंपल इकट्ठा किए हैं. अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी ने आईसीएमआर को लिखे पत्र कहा है कि जितनी जल्दी हो सके, कोविड सैंपल्स की जीनोम स्टडी कराई जाए. इस स्टडी से यह पता चल सके कि क्या यूनिवर्सिटी में कोविड का कोई नया वैरिएंट विकसित हुआ है.

विश्वविद्यालय परिसर में रहने वाले जिन प्रोफेसर की कोरोना के कारण मृत्यु हुई है, उनमें पोस्ट हार्वेस्ट इंजिनियरिंग विभाग के प्रफेसर मोहम्मद अली खान (60), राजनीति विज्ञान विभाग के प्रो. काजी मोहम्मद जमशेद (55), मनोविज्ञान विभाग के अध्यक्ष प्रो. साजिद अली खान (63), संग्रहालय विभाग के अध्यक्ष मोहम्मद इरफान (62), महिला अध्ययन केंद्र के डॉ. अजीज फैसल (40), इतिहास विभाग के डॉ. जिबराइल (51), अंग्रेजी विभाग के डॉ. मोहम्मद यूसुफ अंसारी (46), उर्दू विभाग के डॉ. मोहम्मद फुरकान संभली (43) और जूलॉजी विभाग के प्रोफेसर सैयद इरफान अहमद (62) शामिल हैं.

यह भी पढ़े – सावधान ! ब्लैक फंगस ने यूपी में दी दस्तक, कोरोना से भी ज्यादा है खतरनाक

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments