चाचा शिवपाल का अखिलेश पर पलटवार : “बोले- अगर उन्हें लगता है कि मैं BJP के संपर्क में हूं, तो निकाल क्यों नहीं देते”

0
136

द लीडर | समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव और चाचा शिवपाल यादव के बीच की नाराजगी अब खुलकर सामने आने लगी है। अखिलेश यादव के शिवपाल यादव को इशारों ही इशारों में बीजेपी का करीबी बताते हुए उन्हें चले जाने की सलाह देने के एक दिन बाद शिवपाल का पलटवार सामने आया है। शिवपाल ने अखिलेश के बयान को गैर जिम्मेदाराना बताते हुए कहा कि अगर उन्हें लगता है कि मैं बीजेपी के साथ हूं तो उन्हें तुरंत विधानमंडल से निकाल देना चाहिए। साथ ही शिवपाल यादव ने कहा कि वे जल्द ही आजम खान से मुलाकात करेंगे।

अखिलेश की टिप्पणी पर शिवपाल को आपत्ति 

पूर्व में अपने भतीजे से मनमुटाव के बाद प्रगतिशील समाजवादी पार्टी-लोहिया (पीएसपीएल) बनाने वाले शिवपाल ने हाल ही में सपा के चुनाव चिन्ह साइकिल पर विधानसभा चुनाव लड़ा था। अखिलेश की टिप्पणी पर आपत्ति जताते हुए शिवपाल ने कहा कि यह गैर-जिम्मेदाराना टिप्पणी है। मैंने सपा के चुनाव चिह्न साइकिल पर चुनाव लड़ा था। अगर उन्हें ऐसा लगता है तो वह तुरंत इस पर निर्णय लें और मुझे विधानमंडल दल से बाहर निकाल दें।


यह भी पढ़े –लाउडस्पीकर को लेकर शिवसेना नेता संजय राउत ने प्रधानमंत्री मोदी से की अपील : कही यह बात


हालांकि, सपा अध्यक्ष ने अपने चाचा का नाम नहीं लिया था, लेकिन उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के साथ शिवपाल की हालिया मुलाकात की पृष्ठभूमि में की गई उनकी इस टिप्पणी ने राजनीतिक गलियारों में फिर हलचल मचा दी है। सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी (एसबीएसपी) के प्रमुख ओम प्रकाश राजभर के इन दावों के बारे में पूछे जाने पर कि वह नियमित रूप से उनके संपर्क में हैं और गठबंधन के सदस्य हैं, शिवपाल ने कहा कि एक फोन आया था, लेकिन अभी तक उनसे इस मुद्दे पर कोई बात नहीं हुई है। संभव है कि उन्होंने मुझसे मिलते-जुलते नाम वाले किसी और व्यक्ति से बात की होगी।

अखिलेश ने शिवपाल के सवाल पर क्या कहा था?

बुधवार को आगरा पहुंचे अखिलेश मीडिया के साथ हुए संवाद में तल्ख दिखे। चाचा शिवपाल यादव और CM योगी आदित्यनाथ के बीच हुई मुलाकात पर भी वो भड़क गए थे। बोले थे कि जो भाजपा के साथ… वो हमारे साथ नहीं हो सकता है। इसके बाद वो वहां से निकल गए।

ट्विटर पर पीएम मोदी, सीएम योगी को फोलो करने लगे

शिवपाल ने हाल ही में भाजपा के साथ बढ़ती दोस्ती के संकेत दिए थे, जब योगी से मिलने के बाद उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और पूर्व उपमुख्यमंत्री दिनेश शर्मा को ट्विटर पर फॉलो करना शुरू कर दिया था।

आजम खान के परिवार मेरे संपर्क में है शिवपाल

शिवपाल ने सपा के वरिष्ठ नेता आजम खान के साथ किए जा रहे व्यवहार की भी आलोचना की, जो लंबे समय से जेल में हैं। बुधवार को रामपुर में रालोद अध्यक्ष जयंत चौधरी के आजम के परिवार से मिलने पर शिवपाल ने कहा कि राजनीति में शिष्टाचार मुलाकातें होती रहती हैं। उन्होंने कहा कि मैं भी उनसे जल्द मिलने की कोशिश करूंगा। उनका परिवार मेरे संपर्क में है। शिवपाल ने कहा कि चुनाव से पहले मैं आजम से जेल में मिला था, उनका स्वास्थ्य अच्छा नहीं था। उनके जैसे बड़े नेता के साथ जो व्यवहार किया जा रहा है, वह सही नहीं है। राजनीति में ऐसी घटनाएं नहीं होनी चाहिए।

(आप हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)