18 साल के स्टूडेंट ने अमेरिकी स्कूल में गोलीबारी कर 19 बच्चों और 2 शिक्षकों की ली जान

0
142

द लीडर | अमेरिका के टेक्सास में एक स्कूल में भीषण गोलीबारी की घटना सामने आई है। इस हमले में 19 बच्चों की मौत हो गई है और कई घायल बताए जा रहे हैं। दो टीचर को भी मौत के घाट उतार दिया गया है। टेक्सास के राज्यपाल ने ये जानकारी दी है। पिछले दिनों भी अमेरिकी में ऐसी ही भीषण गोलीबारी देखने को मिल चुकी है। इस घटना पर राष्ट्रपति जो बाइडेन ने कहा है कि मैं इस सबसे थक गया हूं, अब हमें एक्शन लेना होगा।

टेक्सास के गर्वनर Greg Abbott ने जानकारी दी है कि गोलीबारी की घटना टेक्सास के उवाल्डे शहर में हुई है। वहां पर एक 18 वर्षीय शूटर ने रॉब प्राथमिक विद्यालय में छात्रों को अपनी गोलियों का निशाना बनाया। गर्वनर के मुताबिक उस गोलीबारी में 18 छात्रों की मौत हो गई और तीन टीचर भी जान गंवा बैठे। प्रेस कॉन्फ्रेंस में उन्होंने ये भी बताया है कि आरोपी शूटर ने हमला करने के बाद खुद को भी गोली मार ली। घटना दोपहर के वक्त की बताई जा रही है जब एक 18 वर्षीय शूटर अचानक से स्कूल कैंपस में घुस आया। जैसे ही पुलिस को शूटर के बारे में पता चला, तुरंत फोर्स मौके पर भेज दी गई, वहीं बच्चों के माता-पिता से कैंपस में ना जाने की अपील हुई।


यह भी पढ़े –कांग्रेस पार्टी ने 8 सदस्यीय ‘टास्क फोर्स- 2024’ का किया ऐलान, समझें पार्टी की नई रणनीति


पहले दादी को निशाना बनाया, फिर स्कूल पहुंचा

अमेरिकी स्कूल में गोलीबारी की ताजा घटना टेक्सास के छोटे से शहर उवाल्डे में हुई है। यहां की आबादी 20,000 से भी कम है। गवर्नर एबॉट के अनुसार, हमलावर का नाम सल्वाडोर रामोस है। इसी इलाके का रहने वाला था। सीएनएन ने सूत्रों के हवाले खबर दी है कि हमलावर बंदूकधारी ने सबसे पहले अपनी दादी को निशाना बनाया। इसके बाद उसने 19 बच्चों को गोली मार दी। दो शिक्षक भी उसकी चपेट में आ गए। दादी की हालत गंभीर बताई गई है। स्कूल में 600 विद्यार्थी पढ़ते हैं। हमले में कई घायल हुए हैं। एक 60 वर्षीय महिला व 10 साल की बच्ची की हालत गंभीर है।

जो बाइडन ने दिया भावुक संदेश

गोलीबारी के बाद जो बाइडन ने हथियारों पर प्रतिबंध लगाने को लेकर भावुक संदेश दिया है। संदेश देते हुए उन्होंने कहा, ‘भागवान के नाम पर हम कब बंदूख लाबी के सामने खड़े होंगे।’ राष्ट्रपति ने दुख जताते हुए कहा कि अब जो बच्चे इस गोलीबारी में मारे गए हैं उनके मां-बाप अब कभी भी अपने औलाद को नहीं देख पाएंगे। राष्ट्रपति ने कहा कि इस तरह की सरेआम और वीभत्सव गोलीबारी शायद ही कहीं दुनिया में होती होंगी। बाइडन ने कहा कि वे हथियार पर लगाने वाले प्रतिबंध को लेकर काफी चिंतित हो चुके हैं और अब कोई न कोई कदम उठाने की जरूरत है।

आधा फहराया जाएगा राष्ट्रीय ध्वज

जो बाइडन ने गोलीबारी की घटना पर शोक जताते हुए व्हाइट हाउस और दूसरे सार्वजनिक भवनों में अमेरिकी राष्ट्र ध्वज को 28 मई,सूर्यास्त तक आधे फहराने (Half Staff) के निर्देश दिए हैं। राष्ट्रपति जो बाइडन ने एक प्रेस विज्ञप्ति जारी करते हुए कहा कि अमेरिका के सभी दूतावासों, विरासतों, कांसुलर कार्यालयों और सामूहिक कार्यालयों में अमेरिकी राष्ट्र ध्वज को 28 मई,सूर्यास्त तक आधे फहराए जाएंगे।

हर साल बढ़ रही गोलीबारी की घटनाएं

इस साल में अब तक अमेरिका के 27 स्कूलों में गोलीबारी हो चुकी है। वहीं देशभर में गोलीबारी की 200 से ज्यादा घटनाएं सामने आ चुकी हैं। नेशनल गन वायलेंस मेमोरियल के आंकड़ों के मुताबिक, 2021 में अमेरिका में गोलीबारी के 693 मामले सामने आए, 2020 में 611 मामले और 2019 में गोलीबारी की 417 घटनाएं दर्ज की गई थीं। आंकड़ों से साफ जाहिर है कि अमेरिका में गोलीबारी के मामले हर साल बढ़ रहे हैं।

(आप हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)